अगर खिलाफ है होने दो जान थोड़ी है यह सब धुवा है कोई आसमान थोड़ी है, लगेगी आग तो आएंगे कई जख्मी यहां पर सिर्फ मेरी मकान थोड़ी है – डॉ राहत इंदौरी देखिए पूरा वीडियो

डॉ राहत इंदौरी का शायरी के अंदाज से लोगों को दिल जीत लेते हैं जैसे कहीं भी स्टेज शो के माध्यम से राहत इंदौरी जाते हैं तो लोगों को ताली बजने में कमी नहीं होती क्योंकि राहत इंदौरी का शायरी इस अंदाज में पेश होता है कि लोग मजबूर होकर ताली बजाते हैं

कवि सम्मेलन में डॉ राहत इंदौरी  अपने लिखे हुए शायरी से लोगों को मन मोह लेते हैं जिससे लोगों को बहुत ही खुशी मिलती है क्योंकि डॉ राहत इंदौरी अपनी लिखी हुई  शायरी और  मुशायरा से लोगों को बहुत ही आनंद आता है डॉ राहत इंदौरी का मुशायरा या शायरी सुनकर

कवि सम्मेलन में अक्सर डॉक्टर  राहत इंदौरी को बुलाया जाता है देश विदेश से जो डॉक्टर राहत इंदौरी लोगों को अपने  टैलेंट  के दम से लोगों को मुशायरा शायरी  भूल कर लोगों को मस्त हंसाते रहते हैं जिससे लोगों को  कवि सम्मेलन में आने के लिए बहुत ही आनंद लगता है

डॉ राहत इंदौरी ने कई  जबरदस्त हंसने और सोचने वाला शायरी लिखा है जो लोगों को दिल तक होता है इसी कारण से डॉ राहत इंदौरी को दुनियाभर के लोग चाहत रखते हैं, अपने अंदाज से लोगों को मुशायरा और  शायरी से लोगों को हंसाना और आनंद उठाना डॉ राहत इंदौरी के कवि सम्मेलन में आनंद मिलता है 

Categories: शिक्षा