मैं अकेला ही चला था जानिब-ए-मंज़िल मगर लोग साथ देते गए और किसानों से रिश्ता बनता गया – Rakesh Tikait

राकेश टिकैत राजस्थान में महा किसान पंचायत के दौरान किसानों को संबोधित करते हुए बताया कि मैं अकेला ही चला था और आज आप सब हमारे साथ जुड़ गए जो हमारा और आपका एक मजबूत रिश्ता सा बन गया है और हम अपने हक की लड़ाई को मांग कर रहे हैं और मांगते रहेंगे

किसान के बिना बताए यह तीनों नए कानून को केंद्र सरकार बनाया है लेकिन हम किसान सबको यह नए  तीनों कानून पसंद नहीं है जिसे  किसानों को हित का नहीं है इसलिए हम आंदोलन को और मजबूत करेंगे और यह नए तीनों कानून को केंद्र सरकार को वापस ही करना होगा इसके लिए हम राज्य के हर शहर गांव में किसान पंचायत करके

किसानों को संबोधित करते हुए बता रहे हैं कि यह तीनों कानून किसानों को फायदा नहीं पहुंचाएगा और कारोबार जगत के लोगों को फायदा पहुंचाएगा जिससे किसान का आमदनी खत्म हो जाएगा और मंडी बाजार का भी खत्म हो जाएगा राकेश टिकैत ने बोलते हुए बोला कि मैं अकेला ही चला था लेकिन मंजिल पर लोग सभी साथ दिया और रिश्ता मजबूत होता गया