गाजीपुर बॉर्डर में किसानों की जनसंख्या और बढ़ रहा है देखें वीडियो

किसान आंदोलन आज 66 दिन हो चुके हैं  लेकिन किसान  का नया कानून सरकार वापस लेने में दिलचस्पी नहीं दिखाई दे रही है किसान नेता के साथ केंद्र सरकार की अब तक 12 बार मीटिंग हो चुके हैं लेकिन केंद्र सरकार नए कानून को वापस लेने में  तैयार नहीं है

लेकिन किसान आंदोलन 26 जनवरी को लाल किले में किसान झंडा फहराने के बाद से दो  किसान संगठन किसान आंदोलन वापस ले लिए जिसके कारण किसान थोड़ी सी नरम हो चुके और न्यूज़ कंपनी किसान आंदोलन खत्म करने का न्यूज़ चलाया लेकिन

किसान के नेता राकेश टिकैत ने किसान का जमावड़ा और बढ़ा दिया जिसे संजय सिंह उत्तर प्रदेश में 29 जनवरी को रैली में संबोधित कर  किसान आंदोलन को और बढ़ावा दिया जिसे गाजीपुर बॉर्डर में आज भारी संख्या में किसान एकजुट हुए हैं और दिल्ली जाने का आंदोलन छेड़ रहे हैं और बोल रहे हैं कि जब तक किसान काला कानून वापस नहीं लेगा तब तक वापस नहीं लौटेंगे