कल है भारत बंद संभल कर घर से निकले संयुक्त किसान मोर्चा ने किया नागरिकों से आह्वान

केंद्र सरकार ने तीनों नए कानून लाए हैं लेकिन वह किसान को पसंद नहीं है जिसके कारण किसान अलग-अलग जगह आंदोलन कर रहे हे जिसे किसान को एकजुट करने के लिए किसान नेता राकेश टिकैत ने भारत के विभिन्न विभिन्न गांव और शहर में किसान महापंचायत करके किसानों को एकजुट कर रहे हैं और नए तीनों कानून के बारे में बता रहे हैं और केंद्र सरकार को पूरी तरह से घेरने में जुटे हुए हैं और नए तीनों कानून को केंद्र सरकार को वापस करने की बात कह रहे हैं और बोल रहे हैं कि यह तीनों ने कानून किसानों को हित के लिए नहीं है

जिसे किसान को कोई फायदा नहीं हो सकता है सिर्फ बड़े-बड़े कारोबार को मुनाफा पहुंचाएगी और किसान गरीब होता जाएगा जिसके कारण संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से 26 मार्च के दिन पूरा भारत बंद करने का आह्वान किया गया है किसान लगभग 4 महीनों से केंद्र के तीन नए कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमा पर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे

26 मार्च को सुबह 6 से शाम 6 बजे तक भारत बंद का आह्वान किया गया है किसान यूनियन के एक मोर्चे ने संयुक्त किसान मोर्चा ने देश के नागरिक कौ से 26 मार्च 2021 भारत बंद का ऐलान किया है दिल्ली के बॉर्डर पर किसान मोर्चा के 4 महीने पूरे हो चुके हैं लेकिन अभी तक किसानों की एक भी मांग पूरी नहीं हुई है इसी के कारण संयुक्त किसान मोर्चा ने अपील किया है कि 26 मार्च को अपनी दुकानें बस ट्रक टैक्सी ऑटो आदि सभी कुछ बंद करें और इस जनआंदोलन में हमारा योगदान करें इस दौरान पूरे देश में सभी सड़क और रेल परिवहन बाजार और अन्य सार्वजनिक स्थान बंद रहेंगे इसमें सिर्फ आपातकालीन सेवाएं जारी रहेंगे बाकी सब कुछ बंद रखा जाएगा