यूपी नंबर – 1, सामूहिक बलात्कार करके हत्या, अपहरण , खुलेआम मर्डर, जाति धर्म पर लड़ाई कराना, यह सब आम बात हो गया है उत्तर प्रदेश में, जानिए

हाथरस की रेप करके मर्डर और दरिंदगी की तरह पैर और रीढ़ की हड्डी तोड़ना, उसके बाद भी पुलिस की रवैया 8 दिनों तक पीड़िता का मामला को केस दर्ज करने में उत्तर प्रदेश के पुलिस घुमाता रहा

शर्म की बात तो यह है की उत्तर प्रदेश के पुलिस हाथरस को आधी रात को अंतिम संस्कार करना, जिसे पता चलता है कि उत्तर प्रदेश की पुलिस कानून को भी बलात्कार किया,

उत्तर प्रदेश के पुलिस ने पीड़िता का पिता को पुलिस ने नजरबंद बनाकर ले गया जो परिवार वाले को पता नहीं कि कहां है हाथरस का पिता

जाति धर्म और इंसानियत सब को बलात्कार किया उत्तर प्रदेश के पुलिस, शर्मनाक बात है कि जो इंसान के मरने के बाद रीति रिवाज से अंतिम संस्कार होता है उसी को उत्तर प्रदेश के पुलिस ने छीन लिया और बलात्कार कर दिया

ना तो हाथरस के परिवार वाले को और रिश्तेदारों को मिलने नहीं दिया गया और ना देखने का मौका दिया, सीधा उत्तर प्रदेश के पुलिस ने मध्य रात को हाथरस को जला दिया और सभी रीति रिवाज को बलात्कार कर दिया

उत्तर प्रदेश में रेप कर के हत्या, खुलेआम मर्डर, जाति धर्म पर लड़ाई कराना, यह सब आम सी बात हो गई है यूपी में, उत्तर प्रदेश के किसी न किसी कोने से हर रोज सुनने और देखने को मिलता है, लड़की अपहरण, रेप करके हत्या, खुलेआम शहर में मर्डर,

और तो इस कांड में यूपी पुलिस का भी सांठगांठ का लिंक पता चलता है लेकिन कोई ठोस कदम नहीं उठाया जाता है, जिसे आज देखने को और सुनने को मिलता है, रेप करके हत्या छेड़खानी, स्कूल और कॉलेज जाते समय लड़कियों को अपहरण करना, खुलेआम किसी शहर में हत्या कर देना, यह सब आम सी बात है उत्तर प्रदेश में हर रोज सुनने और देखने को मिलता है

यूपी के बलरामपुर में छात्रों को नशीला इंजेक्शन देकर 3 लड़कों ने सामूहिक बलात्कार किया और दोनों पैर और कमर को तोड़ दिया, 1 दिन भी नहीं गुजरा है हाथरस की रेप और हत्या का मामला , जिसे पता चलता है कि उत्तर प्रदेश की प्रशासन किस तरह से काम कर रहा है

बीएड की छात्रा को अपहरण कर लिया गया जो बबली नामक लड़की b.ed की फीस जमा करने कॉलेज गई थी और अभी तक कुछ अता पता नहीं है छात्रा का, और बबली को 3 दिन हो गए अपहरण किए हुए लेकिन अभी तक पुलिस के पास कोई रिपोर्ट नहीं है कि लड़की कहां है और किस हालत में है

हाथरस को जिस तरह से अंतिम संस्कार जल्दी में करना और आधी रात को जला देना, बीना पूछें परिवार और रिश्तेदार वाले से और बिना रीति रिवाज के अंतिम संस्कार करना, सबसे शर्मसार है

हाथरस की मां चिल्ला चिल्ला कर बोल रही थी अपनी बेटी को रीति रिवाज के साथ विदाई करके अंतिम संस्कार करना चाहती थी जो हिंदू के मरने के बाद हल्दी रसम से विदाई होती है लड़की को अंतिम संस्कार के लिए विदाई करते हैं

हाथरस के परिवार वाले को, उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी रीति रिवाज को बलात्कार किया, और हाथरस की भाभी ने पुलिस के गाड़ी को पीछे पीछे रोती बिलखते हुए भाग रही थी ताकि पुलिस वाले से पूछें, लेकिन पुलिस गाड़ी लेकर भागता रहा,

निर्भया के कांड के बाद से ऐसी कोई ठोस कानून नहीं बना जिसे बलात्कारियों को जल्द से जल्द फांसी में लटकाया जाए, हत्यारों को 8 से 5 साल तक जेल में रहते हैं और पुलिस को जांच करने में कई साल लग जाती है, पीड़िता को मामले में जांच करने में